मदर्स डे

go to link अपने घर के बरामदे में शाम की चाय का लुत्फ़ उठाते हुए पप्पू कल की मुलाकात को याद करने लगे। सोचने लगे की एक बड़े लम्बे समय के अंतराल के बाद कल गुप्ता जी से मिलना हुआ। उनसे मिल कर काफी अच्छा …

Liked the post? Please like , comment and share.!!