तुम और मैं

Love_U_Mom_by_deWhin

तुम और मैं

एक ही  तोह है हम दोनों

कौन कहता है की हम एक नहीं

जिस्म  चाहे अलग हो पर रूह एक ही है हमारी।  

तुम और मैं

दो नहीं एक ही है। 

तू खुश तोह मैं खुश

तू व्यथित तोह मैं  व्यथित

तकलीफ तुझे होती है दर्द मुझे होता है

नहीं हो सकते हम अलग

नहीं जा सकते तुम मुझे छोड़ कर अकेला

नहीं जाने दूंगी मैं तुम्हे कही। 

तुम और मैं दो नहीं एक ही है।   

देखा है क्या कभी रूह को जिस्म से अलग

क्यों अलग करना चाहते हो मझे खुद से

क्यों अलग हो कर  जीवन खत्म कर देना चाहते हो मेरा 

कभी सोचा है कितनी तनहा हो जाउंगी तुम्हारे जाने से

कुछ बाकी नहीं रहेगा

न जाना मुझे छोड़ कर

क्योकि, 

एक ही तो है हम

तुम और मैं। 

Liked the post? Please like , comment and share.!!

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *